प्रेगनेंसी में पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द क्यों होता है? जानिए कारण और उपाय

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कई बार पेट के ऊपरी भाग में दर्द का अनुभव होता है। आर्टिकल को पूरा पढ़ कर आप जान पाएंगे कि इसका क्या कारण होता है।

पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द होना गर्भावस्था का एक आम अनुभव है लेकिन यह ज़रूरी नहीं कि हमेशा गंभीर हो। आइए जानते हैं इसके आम और गंभीर कारणों के बारे में, साथ ही कुछ घरेलू उपाय जो दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं। यहां पर हम बताने वाले हैं कि प्रेगनेंसी में पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द क्यों होता है और इसको कम कैसे करें।

pregnancy upper abdominal pain causes

प्रेगनेंसी में पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द क्यों होता है

गर्भावस्था के दौरान महिला के अंदरूनी शरीर में कई बड़े बदलाव आते हैं। इस कंडीशन में महिलाओं को अक्सर पेट दर्द का अनुभव होता है। नीचे हमने कुछ सामान्य कारण बताये हैं कि महिलाओं को प्रेगनेंसी में पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द क्यों होता है।

गर्भाशय का बढ़ना :- जैसे-जैसे गर्भाशय बढ़ता है, यह पेट के ऊपरी हिस्से में खिंचाव और दबाव पैदा कर सकता है जिससे दर्द हो सकता है। यह दर्द आमतौर पर हल्का और क्षणिक होता है।

पाचन संबंधी समस्याएं :- गर्भावस्था के दौरान हार्मोनल परिवर्तन होते हैं जो पाचन क्रिया को धीमा कर सकते हैं जिससे गैस, अपच, और कब्ज जैसी समस्याएं हो सकती हैं। ये समस्याएं पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द पैदा कर सकती हैं।

गोल लिगामेंट दर्द :- गोल लिगामेंट गर्भाशय को सहारा देने वाले लिगामेंट होते हैं। जैसे-जैसे गर्भाशय बढ़ता है, ये लिगामेंट खिंचते हैं, जिससे पेट के ऊपरी हिस्से, विशेष रूप से बायीं तरफ दर्द हो सकता है।

प्रेगनेंसी में पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के गंभीर कारण

जब महिला प्रेगनेंसी की अवस्था में होती तो उसे सामान्य कारणों के अलावा कुछ अन्य कारणो से भी पेट में दर्द हो सकता है। प्रेगनेंसी में पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के कुछ गंभीर कारण नीचे बताये हैं।

एक्टोपिक गर्भावस्था :- यह तब होता है जब भ्रूण गर्भाशय के बाहर, आमतौर पर फैलोपियन ट्यूब में प्रत्यारोपित होता है। यह एक गंभीर स्थिति है जिसके लिए तत्काल चिकित्सा ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

प्लेसेंटा एब्डोमिनिस :- यह तब होता है जब प्लेसेंटा गर्भाशय की दीवार में असामान्य रूप से जुड़ जाता है। यह एक गंभीर स्थिति है जिसके लिए प्रसव पूर्व देखभाल और निगरानी की आवश्यकता होती है।

प्रीक्लेम्पसिया :- यह गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्तचाप और अन्य लक्षणों की विशेषता वाला एक गंभीर विकार है। यह पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द, साथ ही सिरदर्द, मतली, और दृश्य परिवर्तन का कारण बन सकता है।

यह जानना जरूरी है कि पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द हमेशा गंभीर नहीं होता है। यदि आपको दर्द है, तो डॉक्टर से संपर्क करना हमेशा बेहतर होता है ताकि वे कारण का पता लगा सकें और उपचार की सिफारिश कर सकें।

प्रेगनेंसी में पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द कम कैसे करें

यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो आपको पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं।

आराम करें :- यदि आप थक गए हैं या तनाव में हैं, तो दर्द बढ़ सकता है।

हाइड्रेटेड रहें :- पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से पाचन क्रिया में सुधार होता है और कब्ज को रोकने में मदद मिलती है।

छोटे-छोटे भोजन खाएं :- दिन भर में छोटे-छोटे भोजन खाने से पेट पर दबाव कम होता है और अपच को रोकने में मदद मिलती है।

ढीले-ढाले कपड़े पहनें :- तंग कपड़े पेट पर दबाव डाल सकते हैं और दर्द को बढ़ा सकते हैं।

गर्म सिकाई :- पेट पर गर्म सिकाई लगाने से दर्द से राहत मिल सकती है।

दर्द निवारक दवाएं :- यदि दर्द गंभीर है तो डॉक्टर दर्द निवारक दवाएं लिख सकते हैं।

हमें लगता है आपको एक बार प्रेगनेंसी में पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द क्यों होता है इसे भी पढ़ना चाहिए।

यह ध्यान रखना जरूरी है कि ये सुझाव केवल सामान्य जानकारी के लिए हैं। यदि आपको पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द है तो डॉक्टर से संपर्क करना हमेशा बेहतर होता है ताकि वे कारण का पता लगा सकें और उपचार की सिफारिश कर सकें।

Vijay Bishnoi is a blogger who shares his thoughts and knowledgeful posts on internet in Hindi language.